News In

No.1 News Portal of India

आईएएस अधिकारी ने दहेज में ₹101 शगुन और 11 बाराती बारात में ले जाकर रचाई शादी

अपना रुतबा दिखाने के लिए लोग शादी-ब्याहों में लाखों-करोड़ों रुपए खर्च कर देते हैं। लेकिन हरियाणा के फरीदाबाद निवासी आईएएस अफर प्रशांत नागर ने अपने पिता को दिया गया वादा निभाते हुए दहेज रहित विवाह किया। आईएएस अधिकारी ने बिना दहेज लिए मात्र 101 रुपए में शादी करके समाज में एक मिसाल कायम की है।

प्रशांत नागर 2019 बैच के यूपी कैडर के आईएएस अधिकारी हैं और फरीदाबाद के तिगांव विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले शाहबाद गांव निवासी रणजीत सिंह के बेटे है। प्रशांत नागर फिलहाल उत्तर प्रदेश के अयोध्या में जॉइंट मजिस्ट्रेट के रूप में तैनात हैं। उनका विवाह 20 जून को दिल्ली के बुराड़ी में रहने वाले रमेश कुमार की बेटी डॉ. मनीषा से हुआ।

इस विवाह में न तो दिखावा हुआ और न ही बरातियों का मेला लगा।

विवाह सादगीपूर्वक संपन्न हुआ और बारात में मात्र 11 लोग ही शामिल हुए। दिल्ली सहित फरीदाबाद में इस बिना दहेज के विवाह को लेकर खूब चर्चाएं हो रही हैं। प्रशांत नागर ने बताया कि मेरी बहन की शादी भी पिता जी ने बिना दहेज शगुन के मात्र 101 रु देकर की थी। तभी से पिता जी ने संकल्प लिया था के बेटों की शादी में दहेज नही लेंगे। पिता जी को दिए हुए संकल्प को निभाते हुए मैंने भी शुरू से ही बिना दहेज की शादी करने का फैसला कर लिया था।

प्रशांत के पिता ने बताया कि शादी-ब्याह में जो लोग अपनी हैसियत दिखाने के लिए व्यर्थ में रुपए खर्च करते हैं, उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए। बल्कि इन रुपयों से वह जरूरतमंद लड़कियों का विवाह करा पुण्य के भागीदार बन सकते हैं। उन्होंने कहा कि वह शुरू से ही दहेज के खिलाफ रहे हैं। इसलिए उनके बेटे प्रशांत ने बिना दहेज के शादी करने का संकल्प लिया था। जिसे उसने पूरा भी किया।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: