News In

No.1 News Portal of India

भूस्वामी ने स्थानीय चौकी प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाते हुए पुलिस क्षेत्राधिकारी से की शिकायत।

राजधानी देहरादून के विकासनगर क्षेत्र में आजकल शरारती तत्वो के द्वारा शरारत के मामले आए दिन सामने आते रहे हैं, इसमें एक ताजा मामला सामने आया है जिसमें उमेश गुप्ता ने पुलिस क्षेत्राधिकारी को लिखित शिकायत देते हुए कहा है कि उनका पुल नंबर 2 विकासनगर में एक प्लाट है जिस पर कुछ शरारती तत्व नजदीकी रहने वाले उन्हें लगातार परेशान कर रहे हैं और उनसे ₹1 लाख की मांग भी कर रहे हैं उमेश गुप्ता के द्वारा मना किए जाने पर उनके साथ उन शरारती तत्वों ने गाली गलौच,जान से मारने की धमकी दी तो उमेश गुप्ता ने इसकी शिकायत विकासनगर बाजार पुलिस चौकी में की उमेश गुप्ता का आरोप है कि उनकी शिकायत पर विकासनगर बाजार चौकी इंचार्ज प्रवीन पुंडीर के द्वारा उमेश गुप्ता और दूसरे पक्ष को भी बुलाया गया उमेश गुप्ता का आरोप है कि उन पर चौकी इंचार्ज प्रवीन पुंडीर के द्वारा द्वितीय पक्ष से लेनदेन कर मामले को रफा-दफा करने का दबाव बनाया गया जिसका उमेश गुप्ता ने विरोध किया तो उन्हें चौकी इंचार्ज प्रवीन पुंडीर के द्वारा कहा गया कि यदि वह द्वितीय पक्ष से फैसला कर अपनी शिकायत वापस नहीं लेते हैं तो वह उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर देंगे और जो 2 दिन बाद बाजार पुलिस चौकी इंचार्ज प्रवीन पुंडीर ने कर दिखाया।

जिससे क्षुब्ध होकर उमेश गुप्ता इस पूरे मामले की शिकायत को लेकर पुलिस क्षेत्राधिकारी विकासनगर के पास पहुंचे और उन्हें अपने साथ हुए अत्याचार की बात कही उमेश गुप्ता ने शिकायती पत्र में जिक्र किया कि क्या किसी भी पीड़ित को अपनी शिकायत लेकर थाने चौकियों में इसलिए नहीं जाना चाहिए कि पुलिस द्वारा मिलीभगत कर पीड़ित व्यक्ति पर भी उल्टा मुकदमा दर्ज कर दिया जाएगा।

उमेश गुप्ता ने प्रवीन पुंडीर पर खुद को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है और कहा है कि चौकी इंचार्ज द्वितीय पक्ष से मिलीभगत कर उनको किसी भी अन्य गंभीर मामले में फंसा सकते हैं द्वितीय पक्ष के द्वारा उमेश गुप्ता को धमकी भी दी गई कि उन लोगों की पुलिस चौकी इंचार्ज से बहुत अच्छी बातचीत है अब वह उमेश गुप्ता पर कोई महिला संबंधित गंभीर मामला बनवा देंगे जिससे वह काफी भयभीत है और उक्त प्रकरण की जांच किसी अन्य अधिकारी से कराने की भी मांग कर रहे हैं।

वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी विकासनगर का कहना है कि पुलिस को दोनों पक्षों से जो तहरीर प्राप्त हुई है उस तहरीर के आधार पर पुलिस द्वारा मुकदमा दर्ज कर विवेचना की जा रही है और जो शिकायत उमेश गुप्ता के द्वारा की गई है उस पर भी जांच की जाएगी कि उसमें कितनी सत्यता है और पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

रिपोर्ट-राजिक खान

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: