News In

No.1 News Portal of India

जिला अधिकारी देहरादून ने 3 मई तक बढ़ाई कोरोना कर्फ्यू की अवधि

देहरादून-उत्तराखंड में कोरोना के बढ़ते मामले थम नहीं रहे. राजधानी देहरादून में भी लगातार संक्रमण के केस आ रहे हैं. इसको देखते हुए जिला प्रशासन ने कोरोना कर्फ्यू की अवधि 26 अप्रैल से बढ़ाकर 3 मई तक कर दी है. देहरादून के डीएम ने इस बाबत आदेश जारी कर दिए हैं. प्रशासन के आदेश के मुताबिक देहरादून में 26 अप्रैल की शाम 7 बजे से लेकर 3 मई के सुबह 5 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. इस दौरान निजी वाहनों का आवागमन पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा. आदेश के तहत ऋषिकेश नगर निगम, छावनी परिषद गढ़ी कैंट, क्लेमन्टाऊन इलाकों में लोगों की आवाजाही पर पाबंदी होगी.

इस बीच उत्तराखंड के स्वास्थ्य विभाग ने जानकारी दी है कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे के दौरान कोरोना के 4,368 नए मामले सामने आए हैं.
वहीं इस अवधि में 1,748 लोग स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं. विभाग के मुताबिक 24 घंटे के दौरान कोरोना की वजह से 44 लोगों की मौत हो गई है. प्रदेश में अभी कोरोना के कुल एक्टिव मामलों की संख्या 35864 पर पहुंच गई है.
कोविड के बढ़ते संक्रमण के मददेनजर सरकार ने राजधानी देहरादून के नगर निगम क्षेत्र, छावनी परिषद गढ़ीकैंट और क्लेमनटाऊन के अलावा नगर निगम ऋषिकेश में हप्ते भर का कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी है. डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट देहरादून आशीष कुमार श्रीवास्तव ने इसके विधिवत आदेश जारी किया है.


इन पर रहेगा प्रतिबंध

कर्फ्यू के दौरान निजी वाहन पूरी तरह प्रतिबंध रहेंगे. फल, सब्जी, डेरी, बेकरी, मीट-मछली, राशन, सरकारी सस्ता गल्ला की दुकानों को भी साप्ताहिक कर्फ्यू से छूट रहेगी. पेट्रोल पंप, गैस आपूर्ति और मेडिकल शॉप पूरे समय खुली रहेंगी. शादी समारोहों में पचास से अधिक व्यक्ति शामिल नहीं हो पाएंगे. उत्तराखंड में कोविड के मामले रोज बढ़ते जा रहे हैं.

रविवार को चार हजार से अधिक मामले सामने आए, तो 44 कोरोना संक्रमित व्यक्तियों की मौत हो गई. उत्तराखंड में देहरादून कोरोना संक्रमण के लिहाज से हॉटस्पॉट बना हुआ है. शुक्रवार को अकेले देहरादून जिले में 1670 कोविड पॉजीटिव केस सामने आए हैं. पूरे उत्तराखंड में जहां 35 हजार से अधिक एक्टिव केस हैं, तो वहीं अकेले देहरादून में बारह हजार से अधिक एक्टिव केस हैं.

दून में हाल बेहाल हैं. सभी हॉस्पिटलस फुल हो चुके हैं. लोगों को न समय पर ऑक्सीजन मिल पा रही है और न बेड. रविवार को राज्य के कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने न्यूज 18 केा दिए अपने एक्सक्लूसिव बयान में कहा था कि स्थिति विस्फोटक हो चुकी है. राज्य में कंप्लीट लॉक डाउन लगा देना चाहिए.उन्होंने सोमवार को होने वाली कैबिनेट मीटिंग में इस बात का प्रस्ताव लाने की बात कही थी.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: