News In

No.1 News Portal of India

पुलिसकर्मियों से बरामद 8 हजार किलो चरस मामले की तफ्तीश में चंपावत जल्द रवाना होगी टीम

नैनीतालः उत्तराखंड में 8 हजार किलो चरस की तस्करी के आरोप में 2 कान्स्टेबल सहित 4 लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही पिथौरागढ़ के 2 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

इसी साल हिमाचल प्रदेश में भारी मात्रा में चरस ज़ब्त की गई थी, तब पुलिस ने अंतर्राष्ट्रीय बाज़ार में 1 किलो चरस की कीमत 3 लाख रुपये से ज़्यादा बताई थी। ऐसे समझा जाए तो उत्तराखंड पुलिस ने जो चरस ज़ब्त की है, उसकी कीमत 240 करोड़ रुपये बैठती है।

आठ हजार किलो चरस में पकड़े गए पिथौरागढ़ में तैनात दो पुलिस कर्मी समेत चार तस्करों की गिरफ्तारी के बाद अब पुलिस चम्पावत में तैनात कांस्टेबल की संलिप्तता की जांच करेगी। इसके लिए जल्द ही पुलिस की एक टीम चम्पावत जाकर कांस्टेबल से पूछताछ करेगी। जांच में साक्ष्य मिले तो पुलिस उसकी गिरफ्तारी भी करेगी।

शनिवार को किच्छा कोतवाली पुलिस ने लालपुर क्षेत्र में कार सवार चार युवक प्रभात सिंह बिष्ट, दीपक पांडे, विपुल शैला और पीयूष खड़ायत को आठ हजार किलो चरस के साथ गिरफ्तार किया था। पूछताछ में पता चला कि गिरफ्तार प्रभात सिंह बिष्ट और दीपक पांडेय पिथौरागढ़ पुलिस लाइन में तैनात है।

पिथौरागढ़ जिला पुलिस अधीक्षक सुखबीर सिंह ने बताया कि आरोपी पुलिस कर्मियों के खिलाफ विभागीय जांच भी शुरू की गई है। उधमसिंह नगर जनपद के किच्छा में शनिवार को 8 हजार किलो चरस के साथ चार तस्करों को गिरफ्तार किया गया था। जांच में पता चला कि गिरफ्तार आरोपियों में प्रभात सिंह बिष्ट और दीपक पांडे पिथौरागढ़ में यातायात पुलिस में तैनात हैं।

इस पर किच्छा पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू कर दी थी। पूछताछ के दौरान पता चला कि उन्हें चरस चम्पावत कोतवाली में तैनात कांस्टेबल प्रदीप सिंह फत्र्याल ने मुहैया कराया था। इसकी पुष्टि के लिए अब ऊधमसिंहनगर की किच्छा थाना पुलिस कांस्टेबल प्रदीप सिंह की संलिप्तता की जांच को चम्पावत जाएगी।

इस दौरान पुलिस उससे उस पर लगे आरोपों के संबंध में पूछताछ करेगी। एसपी सिटी ममता बोहरा ने बताया कि पूछताछ में पकड़े गए पुलिस कर्मियों ने चरस चम्पावत में तैनात कांस्टेबल प्रदीप सिंह से लाने की बात कबूल की थी। इसकी पुष्टि के लिए पुलिस टीम जल्द ही चम्पावत पहुंचकर कांस्टेबल से पूछताछ करेगी। बताया कि चरस तस्करी में उसकी संलिप्तता मिलने पर उसे गिरफ्तार किया जाएगा।

सीडीआर खोलेंगे तस्करों के राज

आठ किलो चरस के साथ पुलिस ने दो कांस्टेबल समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि चम्पावत में तैनात कांस्टेबल प्रदीप सिंह फत्याल को इसका मास्टर माइंड बताया जा रहा है। ऐसे में पुलिस के सामने सवाल खड़े हो गए हैं कि करोड़ों कीमत की चरस कहां से लाई गई और किसे सप्लाई की जा रही थी। साथ ही इस धंधे में पुलिस कर्मियों के साथ और कौन कौन लोग जुड़े हैं। इसके रहस्य तक पुलिस पहुंचने का प्रयास कर रही है। इसके लिए पुलिस पकड़े गए दोनों पुलिस कर्मियों समेत चारों तस्कर और चम्पावत में तैनात कांस्टेबल प्रदीप के मोबाइल नंबरों पर करीब एक सप्ताह के भीतर आए और किए गए कॉल की सीडीआर निकालेगी। ताकि सीडीआर में मिले संदिग्ध नंबरों से पूछताछ कर पुलिस चरस तस्करी से जुड़े इस पूरे चैन का पर्दाफाश कर सके।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: