News In

No.1 News Portal of India

हरबर्टपुर केंद्रीय तिब्बती विद्यालय को केंद्रीय विद्यालय बनाने की विपुल अग्रवाल ने उठाई मांग

शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार जिसका नाम पहले मानव संसाधन विकास मंत्रालय था के अधीन चल रहे केंद्रीय तिब्बती विद्यालय हरबर्टपुर को तिब्बतियों को पूर्ण रूप से देने के भारत सरकार के आदेश से परेशान अभिभावकों एवं क्षेत्रवासियों की समस्या को देखते हुए आज नगरपालिका परिषद हरबर्टपुर के भाजपा सभासद विपुल अग्रवाल ने शिक्षा मंत्रालय से दूरभाष के माध्यम से सम्पर्क साधा है तथा उक्त आदेश को वापस लेने के साथ-साथ उक्त विद्यालय को केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय के स्थान पर केन्द्रीय विद्यालय बनाने का अनुरोध किया है।
भाजपा नेता विपुल अग्रवाल ने बताया कि केन्द्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का स्वास्थ्य ख़राब होने के चलते अभी उनसे इस सन्दर्भ में बात नहीं हो सकी है लेकिन 2 या 3 दिनों में अस्पताल से छुट्टी मिलने के पश्चात उनसे इस सम्बन्ध में बात कर इस समस्या का समाधान निकाला जायेगा।
भाजपा सभासद विपुल अग्रवाल ने बताया कि भारत सरकार के अधीन चल रहे 6 केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय जो कि हरबर्टपुर, मसूरी, डलहौजी, शिमला, कालिम्पोग, दार्जीलिंग में स्थिति है उसे तिब्बतियों को पूर्ण रूप से देने का आदेश भारत सरकार ने दिया है।
विपुल अग्रवाल ने हरबर्टपुर केंद्रीय विद्यालय के प्रधानाचार्य ए.पी. सिंह से मुलाकात कर इस संदर्भ में जानकारी जुटाई और उन्होंने बताया कि
हमारे केन्द्रीय तिब्बती विद्यालय हरबर्टपुर में तिब्बती बच्चों की संख्या मात्र 54 है जबकि भारतीय बच्चों की संख्या लगभग 490 है।
उन्होंने कहा कि इस समस्या का सामाधान अति शीघ्र निकाला जायेगा ताकि भारतीय बच्चों का भविष्य सुरक्षित रह सके।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: